Blog

लेबर के बारे में जो आप नहीं जानतीं know about your labour pain


लगातार गर्भ की पेशियों में खिंचाव महसूस हो, तो डॉक्‍टर के पास जाएं।
लंबी सांस लेने की प्रक्रिया को अपनाकर आप इस दर्द को कम कर सकते हैं।

प्रेग्नेंसी के आखिरी हफ्ते में गर्भाशय में ऐंठन महसूस होती हैं जिसे फॉल्स लेबर कहते हैं, आमतौर पर सभी महिलाओं को होता है। फॉल्स लेबर प्रसव के कुछ देर पहले ही होता है इसलिए महिलाओं के लिए यह जानना मुश्किल हो जाता है कि ये फॉल्स लेबर हैं या रीयल लेबर पेन है। आमतौर पर लेबर के तीन स्टेज होते हैं। आइए जानें उनके बारे में।

पहला स्टेज
इस स्टेज में सर्विक्स (गर्भाशय का निचला हिस्सा) फैलकर खुलने लगता है साथ ही इसमें वैजाइना से हल्के रंग का ब्लैड पास होता है। इस स्टेज के अंत में सिकुड़न ज़्यादा तेज हो जाती है और ये प्रक्रिया लम्बे समय तक चलती है।

दूसरा स्टेज
इस स्टेज में सर्विक्स पूरी तरह से खुल जाता है, और बच्चे को वैजाइना से बाहर आने के लिए मदद की जरूरत होती है। यह वह अवस्था होती है जब डॉक्टर आपको तब तक पुश करने के लिए कहता हैं जब तक बच्चे का जन्म नहीं हो जाता। इस प्रक्रिया में दो घंटे या उससे भी ज्यादा समय तक लग सकता है।

तीसरा स्टेज
बच्चे का जन्म हो जाने के बाद भी संकुचन होता रहता हैं और गर्भनाल निकलता है। इस समय होने वाला संकुचन बच्चे के जन्म के पहले होने वाले संकुचन (कॉन्ट्रैक्शन) की तरह ही होता है लेकिन इसमें दर्द कम होता है। ये स्टेज कुछ सेकेंड से लेकर 15-20 मिनट तक रहती है।

डॉक्टर से संपर्क करें
जब लगातार और थोड़ी-थोड़ी देर पर गर्भ की पेशियों में खिंचाव महसूस हो। इसके अलावा जब यह अधिक समय तक और तीव्रता से हो।
अगर आपके कमर के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत हो।
आपका बच्चा तरल पदार्थ की एक थैली से सुरक्षित रहता है। यह प्रसव पीड़ा के दौरान टूटता है और पानी गिरना शुरु हो जाता है। यह प्रसव का ही एक लक्षण है।
अगर रक्त स्त्राव की समस्या हो रही हो।
आपको बुखार, सिरदर्द या पेट में दर्द हो।

लेबर को आसान कैसे बनाएं
बहुत सी महिलाएं लेबर पेन को लेकर काफी डरी रहती हैं, लेकिन कुछ बातों को ध्यान रखकर आप अपनी डिलिवरी को आसान बना सकती हैं।
लंबी सांस लेने की प्रक्रिया को अपनाकर।
लोकल और इन्ट्रावेनस दवाओं के जरिए।
इंजेक्शन के जरिए जो बॉडी के निचले हिस्से में होने वाले दर्द को रोक देता है।
स्पाइनल एनेस्थीसिया।

उम्‍मीद है कि इस लेख के पढ़ने के बाद आपको लेबर से जुड़ी कई ऐसी बातें जानने को मिली होंगी जिनके बारे में आपको पहले शायद नहीं सुना होगा। इन्‍हें जानने के बाद आपके लिए प्रसव का समय ज्‍यादा सुविधाजनक हो सकता था।


August 4, 2017