सीने में जलन को ऐसे दूर करता है बेकिंग सोडा

Uses of Baking Soda


एसिडिटी होने पर कई बार आपको भोजन नली या सीने में जलन की महसूस होती है। कभी-कभार ऐसा होना सामान्‍य बात है, लेकिन अगर आप लगातार इस तरह की जलन महसूस करते हैं तो यह एक गंभीर समस्‍या भी हो सकती है। लेकिन घबराइए नहीं, आपकी इस परेशानी का इलाज बेकिंग सोडा में छिपा है। जीं हां, घर की सफाई, खान-पान और सौंदर्य निखारने के लिए फायदेमंद बेकिंग सोडा आपकी इस परेशानी को दूर करने का बहुत कारगर और फायदेमंद उपाय है, आइए जानें कैसे।

बेकिंग सोडा में अतिरिक्त एसिड का मुकाबला करने के लिए एक प्रभावी और सामान्य रूप से एंटासिड मौजूद होता है। सोडा का मूल स्वभाव नमक और पानी के गठन से पेट में अतिरिक्त हाइड्रोक्लोरिक एसिड बनाना होता है। जिससे गैस से राहत मिलती है और सीने की जलन दूर होती है।

बेकिंग सोडा का इस्‍तेमाल
बेकिंग सोडा के इस्तेमाल से इस समस्या में झट से फायदा होता है। एसिडिटी के कारण होने वाली सीने में जलन के लिए आप बेकिंग सोडा को अलग-अलग तरीके से इस्‍तेमाल कर सकते है। इसके लिए सबसे बेहतरीन तरीका है, एक गिलास पानी में एक चम्मच बेकिंग पाउडर मि‍लाकर पी लें। लेकिन ध्‍यान रहे कि इस उपाय को दिन में 3 बार से ज्‍यादा न आजमायें, क्‍योंकि इससे आपको नुकसान हो सकता है।
बेकिंग सोडा के साथ अदरक का इस्‍तेमाल भी आपको सीने में जलन से राहत दिलाता है। इसके लिए एक कप गर्म पानी में आधा चम्‍मच बेकिंग सोडा के साथ-साथ आधा चम्‍मच कद्दूकस किया हुआ अदरक मिला लें। इस पेय को पीने के बाद आप जलन से राहत महसूस करेंगे।
सीने में जलन को दूर करने के लिए आपने ठंडे दूध के बारे में सुना ही होगा। आप सीने में जलन होने पर एक गिलास दूध के साथ एक चम्‍मच बेकिंग सोडा मिलाकर भी पी सकते हैं। अगर आप लगातार इस समस्‍या से परेशान है तो आप सोते समय भी इस दूध का सेवन कर सकते हैं।
बेकिंग सोडा के साथ नींबू लेने से भी सीने में जलन से राहत मिलती है। समस्‍या होने पर आधा कप गर्म पानी में कुछ बूंदे नींबू की निचोड़ लें। अब इस गर्म नींबू पानी में आधा चम्‍मच बेकिंग सोडा मिलाकर, इस घोल को पी लें।


सावधानियां
सीने में जलन से बचने के लिए बेकिंग सोडा का इस्‍तेमाल करने से पहले आपको कुछ बातों को ध्‍यान में रखना होगा।
बेकिंग सोडा में अत्‍यधिक मात्रा में सोडियम की मौजूदगी के कारण, सोडियम का सेवन कम करने वालों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
नमक और सोडियम की मात्रा अधिक होने के कारण लगातार इन उपायों के प्रयोग से आपको मतली या उल्‍टी का अनुभव हो सकता है।
गर्भावस्‍था या नवजात शिशु होने पर महिलाओं को बेकिंग सोडा का इस्‍तेमाल नहीं करना चाहिए। साथ ही 6 साल से कम उम्र के बच्‍चों को भी बेकिंग सोडा का उपयोग नहीं करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *